100+ Best जज़्बात बेताबी ज़ख्म एहसास बेकरारी शायरी कलेक्शन

jazbaat shayri, betabi shayari, zakhm shayari, ehsas shayari, fitarat shayari, bekarari shayari, love shayari, dhokha shayari, in hindi collection, banner wishes, best romantic heart touching shayari, mohabbat shayari, bepanah ishq shayari

जज़्बात भरी शायरी | Jazbat Shayari

दिखावे की मोहब्बत तो जमाने को है हमसे पर,
ये दिल तो वहाँ बिकेगा जहाँ ज़ज्बातो की कदर होगी।

घटाओं में किसी का चेहरा नज़र आया!
दिल में आज कोई जज़्बात उभर आया!
जुल्फों के बीच तेरा चेहरा देख कर लगा!
शबनम की बूंदों में शबाब निखर आया…..!!

आप की आँख से गिरने वाला एक आंसू!
आप को तमाम उम्र रुला सकता है!
इसलिए उनकी इज्ज़त करो…!!

दिल के जज़्बात शायरी | Dil ke Jazbaat Shayari

दिल के जज्बातों की हिफाजत करें भी तो कैसे?
महफूज तो धड़कन भी नहीं होती सीने में।

हाल मेरा भी दिन रात, कुछ ऐसा है इन दिनों,
वो ज़िन्दगी में आते भी नहीं, और ख्यालों से जाते भी नहीं….!!

बेताब शायरी | Betaabi Hindi Shayari.

कुछ और जज्बातो को बेताब किया उसने,
आज मेहंदी वाले हाथो से आदाब किया उसने।

जज़्बात शायरी हिंदी में | Jazbat Shayari in Hindi

केवल अल्फ़ाज़ों की बात थी,
जज़्बात तो तुम वैसे भी नहीं समझते।

सात फेरों पे शायरी | रिश्तों पे शायरी

इतना आसान नही जीवन का किरदार निभा पाना,
इंसान को बिखरना पड़ता है रिश्तों को समेटने के लिए।
बात तो सिर्फ जज़्बातों की है वरना,
मोहब्बत तो सात फेरों के बाद भी नहीं होती।

सात फेरों के सातों वचन सिर्फ तुम संग हो
है दुआ मेरे सातों जनम सिर्फ तुम संग हो!!

तारे होंगे सारे बाराती, चांदनी होगी रात,
हाथों में लेकर तेरा हाथ हम फ़ेरे लेंगे सात..!!

सखे ससपदी भवः
let us live like ideal friends
who think and act alike.
ऋतुभ्यः षटपदी भवः
let us think and act together
in all seasons and all stresses.
प्रजाभ्यः पज्वपदी भवः
let us have worthy children.
र्ज द्विपदी भवः
let us live together an active and
and energetic life.
मयोभवाय चतुष्पदी भवः
let us live happily together.
रायरपोपाय त्रिपदी भवः
let us live a majestic life.
ईष एकपदी भवः
let us start our first step
together.

जख्म दर्द शायरी | Zakhm Shayari status

सहला कर यू ही कूरेद देता हूं कई मर्तबा,
ये जख्म ही तो उसकी आखिरी निशानी बची है।

गलत कहते है लोग की सफेद रंग मै वफा होती है यारो,
अगर ऐसा होता तो आज नमक, जख्मो की दवा होती.

न ज़ख्म भरे, न शराब सहारा हुई,
न वो वापस लौटीं, न मोहब्बत दोबारा हुई

मैं हँसकर अपना दर्द सुनाऊंगा, तुम रो भी नही पाओगे.
मेरे जख्मों को आज कुरेदे गर, तुम सो भी नही पाओगे.

बदलते दौर पर शायरी | Waqt Shayari in Hindi

बदलते दौर के हर खेल खेलेंगे,
किसी रोज बच्चे खिलौने से नही लोगों के जज्बातों से खेलेंगे।

इक बुरा सा दौर जब पीछे था मेरे,
मानो अभी-अभी वो कल गया।
मैं दो पल को रूकी पलटकर सामना करने,
वो ज़ालिम कुचलकर निकल गया।

पल पल बदलते रिश्ते
जज़्बात नहीं ज़रुरत मे गहराते रिश्ते

खबरों ने अखबारों को भर दिया जहर से
कागज को कलम की आग ने जला दिया
सुकून और पैसे की बनती नहीं अब
लोगों ने फंदे से खुद गला जला दिया
इंसानियत की रोटी कच्ची रहती है
हवस ने नवजात चूल्हा जला दिया
शैतानों से डरने का दौर नहीं ये
आपसी आग ने पानी जला दिया

प्यार का मजाक पर शायरी

कुछ इस कदर मेरे जज़्बातों से वो मजाक करता है,
कागज पर इश्क़ लिखता है फिर जला के राख करता है।

आधी 🌎 दुनिया तो मजाक से चल रही हैं,,☺
बात को 👉 Seriously,लेने वाले 👬
शायद जिदंगी के मजे ले रहे हो_”💔

कि कुछ लोगों की मजाक भी कितनी प्यारी लगती हैं…
और कुछ लोगों की मोहब्ब्त भी मुझे मजाक सी लगती है…

मेरा दिल इतना भी नासमझ नहीं,
जो तेरे बदलते जज़्बातों को समझे नहीं।

बहुत कम ही मिलते है जो समझ सकें जज्बात मेरे,
भला कोई है इस जहाँ में जो दुसरो के दर्द अपने आँखों से बयाँ कर सके।

2 Line Jazbaat Shayari

कुछ उम्दा किस्म के जज़्बात हैं हमारे,
कभी दिल से समझने की तकलुफ़्फ़् तो कीजिए।

Pyar Ke Jazbaat Shayari

जो तार से निकली है वो धुन सबने सुनी है
जो साज़ पे गुज़री है वो किस दिल को पता है..

Jazbaat Shayari two Lines

कई बार हम जज्बातों में आके कुछ कह तो देते हैं,
पर फिर ख्याल आता है ना कहते तो अच्छा था।

अपनेपन की शायरी | Apnepan Shayari

बदलते नहीं जज़्बात मेरे तारीखों की तरह,
बेपनाह इश्क़ करने की ख्वाहिश मेरी आज भी है।

जज़्बात दो लाइन की शायरी

शराब एक नाम है बिकने तलक,
बिक जाये जब जज़्बात कहलाती है।

सताना तड़पाना शिकवा शायरी Hindi mein

दर्द मिट्टी के घरों का कहाँ बरसात समझे हैं,
काम जिसका हो सताना कहाँ जज़्बात समझे हैं।

उनकी नजर में कोई फर्क आज भी नहीं,
पहले मुड़कर देखते थे अब देखकर मुड़ जाते हैं।

मेरे सिवा किसी और को महबूब बना कर देख ले,
तेरी हर धड़कन खुद कहेगी कि ये वफा कुछ और ही है।

क्या खूब दिखाया दुनिया ने अपना रंग,
हम रंग भरते भरते खुद बे-रंग हो गए।

वो मेरे करम उँगलियों पे गिनते हैं,
सितम का जिनके कोई हिसाब नहीं।

Judayi aur Maut pe Shayari

तुम्हे ही सहना पड़ेगा गम जुदाई का,
मेरा क्या है मै तो मर जाऊँगा।

ज़िन्दगी और दोस्ती पे शायरी | जज़्बात कोट्स

सबकी जिंदगी में खुशियाँ देने वाले दोस्त,
तेरी जिंदगी में कोई गम ना हो,
तुझे तब भी दोस्त मिलते रहें अच्छे अच्छे,
जब इस दुनिया में हम ना हो।

कुछ बात तो है तेरे बातो में जो बात यहा तक आ पहुची,
हम दिल से गए दिल हमसे गया ये बात कहा तक जा पहुंची।

मोहब्बत पे शायरी | Love Letter Shayari

मुस्कुराने से शुरू और रुलाने पे खतम,.
ये वो जुल्म हैं,. जिसे लोग मोहब्बत कहते हैं.

वो कागज आज भी मुझे फूलो की तरह लगता है,
जिसपे तुमने लिखा था मुझे तुमसे मोहब्बत है।

बहुत रोका मगर कहा तक रोकता,
मोहब्बत बढती गई तुम्हारे नखरो की तरह।

कोई मुक़दमा ही कर दो हमारे सनम पर,
कम से कम हर पेशी पर दीदार तो हो जायेगा।

दिल ♥ फरेब • अदाएं शायरी | Best Flirting Shayari

तेरी दिल फरेब अदाए मेरी जान ले सकती है,
अपना अंदाजे नज़र बदलो मेरी ज़िन्दगी का सवाल है।

सुबह आँखे खुली तो समझ में आया,
वो ख्वाब था जिसमें मैं तेरे साथ था.

कर दे नज़रे करम मुझ पर, मैं तुझपे एतबार कर दूँ,
दीवाना हूँ तेरा ऐसा कि दीवानगी की हद को पार कर दूँ.

मुझे क्या पता यहा तुम से अच्छा है या नही
तुमहारे सिवा किसी और को गौर से देखा ही नहीं

Dil ke Jazbaat Shayari in Hindi

ना चाहत के अंदाज़ अलग, ना दिल के जज़्बात अलग
थी सारी बात लकीरों की, तेरे हाथ अलग, मेरे हाथ अलग।

चलो ख़ामोशियों की गिरफ़्त में चलते हैं,
बातें ज़्यादा हुई तो जज़्बात खुल जायेंगे।

झुकी हुई पलकों से जिनका दीदार किया,
सब कुछ भुला के जिनका इंतज़ार किया,
वो जान ही न पाये जज़्बात मेरे,
जिन्हें दुनिया से बढ़कर मैंने प्यार किया।

कभी शाहिल बनाओ किसी खूबसूरत दिल को,
कसम मेरे जज्बातों की,
तुम खूबसूरत चेहरों की तलास छोड़ दोगे।

पत्थर दिल और जज़्बात पे शायरी | Dard Shayari

जज़्बात लिखे तो मालूम हुआ,
पढ़े लिखे लोग भी पढ़ना नही जानते।

पत्थर की दुनिया जज़्बात नहीं समझती,
दिल में क्या है वो बात नहीं समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नहीं समझती।

दिल -ए -जज़्बात किसी पर, ज़ाहिर मत कर,
अपने आपको इश्क़ में, इतना माहिर मत कर।

प्यार के दुश्मन और जज़्बाती शायरी

दिल से मिले दिल… तो सजा देते हैं लोग​,
मोहब्बत के जज्बातों को डुबो देते हैं लोग,
​दो इंसानों को मिलते कैसे देख सकते हैं लोग​,
जब साथ बैठे दो परिन्दो को भी उड़ा देते हैं लोग।

वो समझें या ना समझें मेरे जज़्बात को,
हमें तो मानना पड़ेगा उनकी हर बात को,
हम तो चले जायेंगे इस जहाँ से,
मगर आंसू बहायेंगे वो हर रात को।

कभी ख़ुद को मेरे प्यार में भुला कर देख,
दुश्मनी अच्छी नहीं मुझे दोस्त बना करे देख.

जो दिल के करीब थे वो जबसे दुश्मन हो गए
जमाने में हुए चर्चे हम मशहूर हो गए.

हिफाज़त गेरो से तो कर लेते,
लेकिन कोई अपना ही दुश्मनी पर उतर गया था,
जिसको हमसफ़र चुना था हमने,
वो अपने वादों से मुकर गया।

तुमसे अच्छे तो मेरे दुश्मन निकले,
हर बात पर कहते हे की, तुझे नहीं छोड़ेंगे।

तन्हाई एहसास जज़्बात शायरी

अल्फ़ाज़ की शकल में एहसास लिखा जाता है,
यहां पर पानी को भी प्यास लिखा जाता है,
हर जज़्बात से वाकिफ है मेरी कलम भी,
प्यार लिखूं तो तेरा नाम लिखा जाता है।

ना कोई फ़साना है ना कोई जज़्बात
मेरी तन्हाई और कुछ अनकहे अलफ़ाज़….

एहसास शायरी | Best Ehsaas Shayari

मुहोब्बत तो सिर्फ शब्द है उसका एहसास तुम हो ….
शब्द तो सिर्फ नुमाइश है जज़्बात तो मेरे तुम हो !!

ज़रूरी थी फिर भी बात नहीं समझा,
अफसोस ये कि हालात नहीं समझा,
कलेजा निकाल कर कहते रहे मोहब्बत है,
मगर पत्थर दिल ने मेरे जज़्बात नहीं समझा..

अलफ़ाज़ गिरा देते हैं जज़्बात की क़ीमत
जज़्बात को लफ़्ज़ों में न ढाला करे कोई

तुम्हारे भीतर जो है अनकहे जज़्बात समझती हूं
भले तुम नासमझ समझो, मगर हर बात समझती हूँ,

Love ka The End Shayari

जुदा हो कर भी जी रहे हैं दोनों वर्षों से
कभी दोनों कहा करते थे ऐसा हो नहीं सकता

काश तु देख सके मेरी उदासी के वो पल
कितनी प्यार से तेरी याद मेरी नीद चुरा लेती है

बात ऊंची थी मगर बात जरा कम आंकी,
मेरे जज्बात की औकात ज़रा कम आंकी,
वो फ़रिश्ता कह कर मुझे जलील करता रहा,
मैं इंसान हूँ मेरी जात ज़रा कम आंकी।

मोहब्बत ♥ इश्क ♥ वफा ♥ फितरत ♥ शायरी

ना चाहत है ना मोहब्बत है ना इश्क है ना वफा
जो कुछ भी था मेरे पास वो सब तुमको दे दिया

यूँ वफा के सिलसिले हमेशा ना रख किसी से
लोग एक खता के बदले सारी वफाए भूल जाते हैं

जो लोग दर्द महसूस करते हैं वो कभी भी
दुसरो की दर्द की वज़ह नहीं बनते

कुछ तो बात है तेरी फितरत में वरना
वरना तुझे चाहने की खता बार बार नहीं करते

Most Romantic Love Zazbaat Shayari

सर्द हवा थी और सुहानी रात थी,
कुछ अनकही अधूरी बात थी
जज्बातों की फ़रियाद थी,
और ये एक तुम्हारी मीठी सी याद थी।

हर जज्बात को जुबां नहीं मिलती,
हर आरजू को दुआ नहीं मिलती,
मुस्कान बनाये रखो तो साथ है दुनिया,
वर्ना आंसुओ को भी आंखो मे पनाह नहीं मिलती।

फिक्र और बेकरारी शायरी | Love and Care Status

नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते क्यों नही,
इतनी ही फिक्र है तो फिर हमारे होते क्यों नही।

जिद में आकर उनसे ताल्लुक तोड़ लिया हमने,
अब सुकून उनको नहीं और बेकरार हम भी हैं।

2 Comments

Leave a Reply